सीधे कॉन्टेंट पर जाएं

निजता और सुरक्षा के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

Google for Education के ज़रिए हमारा मकसद आपकी स्कूल कम्यूनिटी को एक सुरक्षित डिजिटल लर्निंग प्लैटफ़ॉर्म उपलब्ध कराना है, ताकि आपकी स्कूल कम्यूनिटी के डेटा की निजता बनी रहे और वह सुरक्षित रहे. इससे शिक्षकों और छात्र-छात्राओं को सीखने-सिखाने के लिए बेहतर माहौल मिलता है.

निजी और सुरक्षित

हम अपना सर्वर और सेवाएं खुद ही डेवलप करते हैं और उन्हें मैनेज करते हैं. एडमिन, 18 साल से कम उम्र के छात्र-छात्राओं की सुरक्षा को बेहतर तरीके से मैनेज कर सकें, इसके लिए ज़्यादा कंट्रोल जोड़े गए हैं.

बिना विज्ञापन

Google Workspace for Education की मूल सेवाओं में किसी तरह का विज्ञापन नहीं दिखाया जाता. साथ ही, छात्र/छात्रा की जानकारी को कभी भी टारगेटिंग (विज्ञापन के लिए सही दर्शक चुनना) के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता है.

अनुपालन में है

हमारी सेवाएं, निजता और सुरक्षा के कड़े मानकों, जैसे कि जीडीपीआर का पालन करती हैं. साथ ही, तीसरे पक्ष के संगठन नियमित तौर पर हमारा ऑडिट करते हैं.

पारदर्शी

Google आपके डेटा को इकट्ठा करने में हमेशा पारदर्शिता बनाए रखता है. हमारे [Google Workspace for Education के निजता नोटिस] (https://workspace.google.com/terms/education_privacy.html) पर, डेटा की सुरक्षा को लेकर हमारी जवाबदेही के बारे में जानकारी दी गई है.

Google आपकी निजता और डेटा की सुरक्षा कैसे करता है, इसके बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब जानें.

शिक्षक

Google for Education

निजता और सुरक्षा को लेकर, Google for Education की प्रतिबद्धता के बारे में जानें.

Google किस तरह से डेटा को सुरक्षित रखता है?

Google के सभी प्रॉडक्ट सुरक्षित रखने के लिए, हम जिन इन्फ़्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल करते हैं वे दुनिया के बेहतरीन इन्फ़्रास्ट्रक्चर में शामिल हैं. साथ ही, अगर कोई व्यक्ति हमारे ग्राहकों से जुड़े डेटा को गैरकानूनी तरीके से ऐक्सेस करने की कोशिश करता है, तो हम उसे रोकने की पूरी कोशिश करते हैं. इन प्रॉडक्ट में पहले से मौजूद सुरक्षा सुविधाएं, ऑनलाइन खतरों की अपने-आप पहचान करके उन पर कार्रवाई करती हैं, ताकि आप अपनी निजी जानकारी की सुरक्षा को लेकर बेफ़िक्र रहें.

जो डेटा ऐक्टिव नहीं है उसे Google, डिफ़ॉल्ट रूप से एन्क्रिप्ट (सुरक्षित) करता है. हम इस डेटा को कई लेयर की सुरक्षा देते हैं. इसके लिए, एन्क्रिप्शन (सुरक्षित करने का तरीका) की बेहतरीन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता है. जैसे, एचटीटीपीएस और ट्रांसपोर्ट लेयर सिक्योरिटी. इन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल बड़ी-बड़ी कंपनियां भी करती हैं. Google के डेटा सेंटर में कड़ी सुरक्षा के लिए, कस्टम हार्डवेयर इस्तेमाल किए जाते हैं. ये हार्डवेयर, कस्टम फ़ाइल सिस्टम और ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करते हैं. इन सभी सिस्टम को कड़ी सुरक्षा और परफ़ॉर्मेंस के लिए ऑप्‍टिमाइज़ किया गया है. Google अपने सिस्टम में इस्तेमाल किए जाने वाले सभी हार्डवेयर खुद ही कंट्रोल करता है. इसलिए, किसी भी तरह के खतरे या गड़बड़ी का पता चलने पर हम तुरंत कार्रवाई कर पाते हैं. हम आपकी निजता और आपके डेटा को सुरक्षित रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं. साथ ही, हम आपको और आपके स्कूल को ऐसी किसी भी कार्रवाई से बचाते हैं जिसकी वजह से, आपके और आपके स्कूल के डेटा की सुरक्षा को खतरा हो सकता है.

Google for Education के प्रॉडक्ट और सेवाएं किस तरह से भरोसेमंद हैं और क्या इनका बड़े स्तर पर इस्तेमाल किया जा सकता है?

दुनिया भर में फ़ैला हमारा बेहतरीन नेटवर्क, कई लेयर वाली फ़ुल-स्टैक सुरक्षा की मदद से बना है. इसकी मदद से, हम ग्राहकों की पसंद और मांग में लगातार आने वाले बदलावों के बावजूद अच्छा प्रदर्शन कर पाते हैं. ज़रूरत के मुताबिक डिज़ाइन किए गए डेटा सेंटर हों या डेटा को एक से दूसरे महाद्वीप तक ट्रांसफ़र करने के लिए समुद्र की सतह के नीचे बिछाए गए निजी केबल, हम इनके लिए ऐसा क्लाउड इन्फ़्रास्ट्रक्चर इस्तेमाल करते हैं जो दुनिया के सबसे सुरक्षित और भरोसेमंद क्लाउड इन्फ़्रास्ट्रक्चर में से एक है. हमारा इन्फ़्रास्ट्रक्चर हर महीने 100 अरब से ज़्यादा खोज क्वेरी हैंडल करने के साथ-साथ Gmail जैसी सेवाओं को करोड़ों उपयोगकर्ताओं तक 99.9%% उपलब्धता की गारंटी के साथ पहुंचाता है. इन सेवाओं के लिए कोई डाउनटाइम शेड्यूल नहीं किया जाता. क्लाउड इन्फ़्रास्ट्रक्चर को हर समय मॉनिटर किया जाता है, ताकि आपके डेटा को सुरक्षित रखा जा सके और ज़रूरत होने पर उपलब्ध कराया जा सके. अगर किसी भी तरह की गड़बड़ी होती है, तो प्लैटफ़ॉर्म पर उपलब्ध सेवाएं उसी समय, अपने-आप एक डेटा सेंटर से दूसरे में शिफ़्ट हो सकती हैं. इस तरह ये सेवाएं बिना किसी रुकावट के लगातार काम कर सकती हैं.

आपको कैसे पता चलेगा कि हम आपके डेटा और निजता की सुरक्षा कर रहे हैं या नहीं?

हमारी बेहतरीन सुरक्षा सुविधाएं, तीसरे पक्ष से कराए गए ऑडिट और सर्टिफ़िकेट, दस्तावेज़ और कानूनी समझौते, आपके देश में लागू नियमों और कानूनों का पालन करने में आपकी मदद करते हैं. अपने Data Processing Amendment (EN), Google Workspace for Education कानूनी समझौते, और Google Cloud के निजता नोटिस के तहत, हम निजता और सुरक्षा से जुड़े मानकों का पालन करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. अपने और उपयोगकर्ताओं के बीच पारदर्शिता बनाए रखने के लिए, हम उन्हें हर तरह की जानकारी भी मुहैया कराते हैं. इसके लिए, हम उपयोगकर्ताओं को सिस्टम की परफ़ॉर्मेंस की पुष्टि करने के लिए रीयल-टाइम डैशबोर्ड की सुविधा देते हैं. इसके अलावा, उपयोगकर्ताओं के साथ अपने डेटा सेंटर की जगह की जानकारी शेयर करते हैं और Google में उपयोगकर्ता के डेटा और निजता की सुरक्षा के लिए अपनाए जाने वाले तरीकों या कानूनी समझौतों का पालन करने से जुड़े जो ऑडिट कराए जा रहे हैं उनकी जानकारी भी उपलब्ध कराते हैं. इस डेटा पर आपका मालिकाना हक है और हम चाहते हैं कि आपको पता हो कि यह डेटा कैसे मैनेज किया जाता है, ताकि आप डेटा से जुड़ा कोई भी फ़ैसला सोच समझ कर ले सकें.

Google Workspace for Education

Google Workspace for Education की निजता और सुरक्षा के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब जानें.

क्या Google Workspace for Education के प्रॉडक्ट और सेवाओं के इस्तेमाल के दौरान यूरोपियन निजता कानून (जीडीपीआर) का पालन होता है?

Yes. Google Workspace for Education can be used in compliance with GDPR. Our Data Processing Amendment (EN) is designed to meet the adequacy and security requirements of the GDPR and model contract clauses (EN) were created specifically by the European Commission to permit the transfer of personal data from Europe. Customers can opt-in to the Data Processing Amendment and model contract clauses. Please visit our GDPR webpage

Google Workspace for Education किस तरह से पढ़ाई के लिए सुरक्षित प्लैटफ़ॉर्म उपलब्ध कराता है?

Google Workspace for Education के सभी प्रॉडक्ट और सेवाएं, अपने उपयोगकर्ताओं को सीखने-सिखाने के लिए, एक सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं. हर सेवा और प्रॉडक्ट, शिक्षा के क्षेत्र में निजता की सुरक्षा के लिए लागू कठिन मानकों, नियमों, और कानूनों का पालन करता है. हम यह पक्का करते हैं कि Google Workspace for Education के प्रॉडक्ट और सेवाओं का इस्तेमाल करते समय आपको विज्ञापन, स्पैम या किसी भी तरह के सायबर खतरे की चिंता न करनी पड़े.

बेहतर एडमिन कंट्रोल और नीतियों की मदद से हम प्राइमरी और सेकंडरी स्कूलों के लिए डिफ़ॉल्ट रूप से, उम्र के हिसाब से कॉन्टेंट उपलब्ध कराते हैं. Google for Education खाते में उम्र के हिसाब से सही कॉन्टेंट की सेटिंग की मदद से स्कूल को इस बात की फ़िक्र नहीं करनी पड़ती कि छात्र-छात्राएं किस तरह का कॉन्टेंट या साइटें ब्राउज़ कर रहे हैं. हम टूल की मदद से एडमिन को यह सुविधा देते हैं कि वे उपयोगकर्ता के लिए सेवाएं और कॉन्टेंट ऐक्सेस करने की सीमा तय कर सकें. इसके अलावा, सेफ़ सर्च और SafeSites की सुविधा डिफ़ॉल्ट रूप से उपलब्ध कराते हैं.

पहले से मौजूद अपने-आप काम करने वाली सुरक्षा सुविधाएं, डेटा को हर समय (24/7) मॉनिटर और एन्क्रिप्ट (सुरक्षित) करती हैं. साथ ही, कोई गड़बड़ी होने पर सुरक्षा से जुड़ी चेतावनी तुरंत भेजती हैं. इस्तेमाल करने में आसान डैशबोर्ड पर आपकी सभी सेटिंग और विश्लेषण के बाद तैयार की गई रिपोर्ट एक ही जगह उपलब्ध होती हैं. इससे, आपके लिए अपने डेटा और सुरक्षा नीतियों को देखना और कंट्रोल करना बहुत आसान हो जाता है. प्रीमियम अपग्रेड में आपको अपने संगठन की ज़रूरत के हिसाब से अपने-आप काम करने वाली कुछ और सुरक्षा सुविधाएं मिलती हैं.

Google Workspace for Education की मूल सेवाएं कौन-कौनसी हैं?

Google, शिक्षा के क्षेत्र से जुड़ी जो सेवाएं उपलब्ध कराता है उनमें सबसे अहम Google Workspace for Education की मूल सेवाएं हैं. Google Workspace for Education में शामिल मूल सेवाओं की सूची सेवाओं की खास जानकारी में दी गई है. मूल सेवाओं में Classroom, Assignments, Forms, Google Meet, Gmail, Calendar, Docs, Slides, Sheets, Sites, Drive, Chat, Jamboard, Groups, Vault, Contacts, और Chrome सिंक शामिल हैं. किसी भी स्कूल को ये सेवाएं उसके Google Workspace for Education कानूनी समझौते और डेटा संसाधन संशोधन (लागू होने पर) के तहत दी जाती हैं.

Google Workspace for Education की मूल सेवाओं में निजता से जुड़े कड़े मानकों का पालन किया जाता है. मूल सेवाओं में न तो कोई विज्ञापन दिखाया जाता है और न ही उपयोगकर्ता की जानकारी का इस्तेमाल, विज्ञापन दिखाने के लिए किया जाता है. दुनिया भर में लाखों छात्र-छात्राएं, शिक्षक, और एडमिन कुछ नया सीखने-सिखाने और साथ मिलकर काम करने के लिए, Google Workspace पर भरोसा करते हैं. हम अपने सभी उपयोगकर्ताओं की निजता और डेटा को सुरक्षित रखने की पूरी कोशिश करते हैं.

क्या Google Workspace for Education के साथ मिलने वाले प्रॉडक्ट और सेवाएं, शिक्षा से जुड़ी ज़रूरतें पूरी करती हैं?

हां. Google Workspace for Education अलग-अलग देशों में निजता और सुरक्षा के लिए, सबसे कड़े शिक्षा मानकों का पालन करता है.

हम नियमित तौर पर, स्वतंत्र रूप से काम करने वाले तीसरे पक्ष से ऑडिट कराते हैं. Google को मिले सर्टिफ़िकेट, ऑडिट, और आकलन में शामिल हैं:

  • ISO/IEC 27001
  • ISO/IEC 27017
  • ISO/IEC 27018
  • SOC 2 और SOC 3
  • FedRAMP (अमेरिकी सरकार)
  • BSI C5 (जर्मनी)
  • MTCS (सिंगापुर)
  • PCI DSS
  • FISC Compliance
  • Esquema Nacional de Seguridad (ENS) (स्पेन)

आप यहां दिए गए नियमों और कानूनों का पालन करके, Google Workspace for Education का इस्तेमाल कर सकते हैं:

  • यूरोपीय संघ का सामान्य डेटा से जुड़े सुरक्षा कानून (जीडीपीआर)
  • अमेरिका का पारिवारिक शिक्षा अधिकार और निजता अधिनियम (एफ़ईआरपीए)
  • अमेरिका का इंटरनेट पर बच्चों की निजता की सुरक्षा से जुड़ा कानून (कोपा)
  • दक्षिण अफ़्रीका का निजी जानकारी की सुरक्षा से जुड़ा अधिनियम (पीओपीआई)
  • यूरोपीय संघ का मॉडल समझौते का उपनियम
  • अमेरिका का हेल्थ इंश्योरेंस पोर्टेबिलिटी ऐंड अकाउंटेबिलिटी ऐक्ट (हिपा)

तीसरे पक्ष के किस संगठन ने Google के सुरक्षा उपायों की समीक्षा की है?

हम नियमित तौर पर, डेटा की सुरक्षा से जुड़े तरीकों की समीक्षा, स्वतंत्र रूप से ऑडिट करने वाले संगठनों से कराते हैं. स्वतंत्र रूप से काम करने वाले तीसरे पक्ष के ऑडिटर ने इस बात की पुष्टि की है कि Google Workspace for Education में हम डेटा की सुरक्षा के लिए जो तरीके अपनाते हैं और जिन कानूनी समझौतों का पालन करते हैं वे ISO/IEC 27018, ISO/IEC 27001, और ISO/IEC 27017 के मुताबिक हैं. हम जिन कानूनों और नियमों का पालन करते हैं उनके बारे में जानने के लिए, अनुपालन संसाधन केंद्र पर जाएं.

क्या Google Workspace for Education मेरे डेटा को एन्क्रिप्ट (सुरक्षित) करता है?

हां. Google Workspace for Education डेटा की सुरक्षा के लिए डिफ़ॉल्ट रूप से जो तरीके अपनाता है उनमें एन्क्रिप्शन (डेटा सुरक्षित करने का तरीका) बहुत अहम है. इससे, आपके ईमेल, चैट, वीडियो मीटिंग, फ़ाइलें, और अन्य डेटा की सुरक्षा में मदद मिलती है. जो ऐक्टिव नहीं है और ट्रांज़िट स्थिति वाला डेटा, दोनों को एन्क्रिप्ट (सुरक्षित) किया जाता है. इससे आपका डेटा, आपके और Google के सर्वर के बीच ट्रांज़िट होने के दौरान सुरक्षित रहता है. साथ ही, आपका डेटा जब डेटा सेंटर के बीच ट्रांज़िट होता है, तब भी उसे सुरक्षित रखा जाता है.

स्कूल छोड़ने के बाद छात्र-छात्राओं के डेटा का क्या होता है?

छात्र/छात्रा के स्कूल छोड़ने पर, उसका Google Workspace for Education खाता मिटाने की ज़िम्मेदारी स्कूल की होती है. अगर स्कूल को उपयोगकर्ता खातों की ज़रूरत नहीं है, तो स्कूल उन्हें मिटा सकता है. जब ग्राहक कोई खाता मिटा देता है, तब खाता मिटाए जाने के 180 दिनों के अंदर Google भी उपयोगकर्ता के खाते से जुड़ा डेटा मिटा देता है.

अगर एडमिन अनुमति दे और छात्र-छात्राएं चाहें, तो वे अपने Google Workspace for Education खाते का डेटा किसी अन्य Google खाते में ट्रांसफ़र कर सकते हैं.

क्या Google Workspace for Education के इस्तेमाल के दौरान विज्ञापन दिखाए जाते हैं?

नहीं. Google Workspace for Education की मूल सेवाओं के सुइट में शामिल ऐप्लिकेशन में विज्ञापन नहीं दिखाए जाते. हालांकि, Google Workspace for Education की अतिरिक्त सेवाओं में आपको विज्ञापन दिख सकते हैं. इसके बारे में, Google Workspace for Education के निजता नोटिस में बताया गया है. Google Workspace के प्राइमरी या सेकंडरी स्कूल के उपयोगकर्ताओं को विज्ञापन दिखाने के लिए, Google उनकी निजी जानकारी या उनके खाते से जुड़ी किसी अन्य जानकारी का इस्तेमाल नहीं करता.

क्या Google के पास स्कूल या छात्र/छात्रा के डेटा का मालिकाना हक होता है?

नहीं. स्कूल के ग्राहक से जुड़े डेटा पर मालिकाना हक स्कूल का होता है. साथ ही, छात्र-छात्राओं के काम पर बौद्धिक संपत्ति के सभी अधिकार स्कूल के पास होते हैं. स्कूल से जुड़े लोग, डेटा को कब और कैसे डाउनलोड कर सकते हैं, इसके लिए स्कूल चाहे, तो नियम भी तय कर सकता है. Google Workspace for Education की मूल सेवाओं के किसी भी ग्राहक से जुड़े डेटा का मालिकाना हक Google के पास नहीं होता. इसकी जानकारी हमारे अनुबंधों में “बौद्धिक संपत्ति” सेक्शन में दी गई है.

हम एडमिन के लिए, बेहतरीन और इस्तेमाल करने में आसान मैनेजमेंट टूल और डैशबोर्ड उपलब्ध कराते हैं. इनसे, संगठन में इस्तेमाल की जा रही सेवाओं, उनके इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी, और डेटा को ट्रैक करना आसान हो जाता है. हम आपके ग्राहक से जुड़ा डेटा तब तक ही सेव रखते हैं, जब तक आप चाहें. अगर कोई स्कूल, यूनिवर्सिटी या शिक्षा विभाग, Google की सेवाओं का इस्तेमाल बंद करने का फ़ैसला लेता है, तो वह Google की सेवाओं में मौजूद अपना डेटा आसानी से एक्सपोर्ट कर सकता है.

क्या Google, स्कूल या छात्र/छात्रा का डेटा तीसरे पक्ष को बेचता है?

नहीं. हम Google Workspace का आपके ग्राहक से जुड़ा डेटा न तो किसी तीसरे पक्ष को बेचते और न ही उसके साथ शेयर करते हैं. हालांकि, Google Workspace for Education कानूनी समझौता में बताई गई कुछ परिस्थितियों में ऐसा कर सकते हैं. जैसे, कानूनी वजहों से ऐसा करना ज़रूरी होने पर या आपके कहने पर. Google की नीति के मुताबिक डेटा पर मालिकाना हक ग्राहक का होता है, इसलिए सरकार की ओर से डेटा मुहैया कराने के लिए भेजे गए किसी भी अनुरोध का जवाब देने की ज़िम्मेदारी मुख्य तौर पर ग्राहक की होती है. हालांकि, किसी व्यक्ति के Google की सेवाओं के इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी पाने के लिए, दुनिया का कोई भी कोर्ट या सरकार सीधे Google से अनुरोध कर सकते हैं. सरकार, ग्राहक का किस तरह का डेटा Google से मांगती है और Google, उस पर क्या कार्रवाई करता है इस बारे में Transparency Report में विस्तार से बताया गया है. Google, अतिरिक्त सेवा के इस्तेमाल के दौरान इकट्ठा की गई निजी जानकारी को भी नहीं बेचता. Google Workspace for Education की मूल और अतिरिक्त सेवाओं के बारे में ज़्यादा जानें.

मुझे कैसे पता चलेगा कि एक ही सर्वर इस्तेमाल करने वाले दूसरे ग्राहक मेरा डेटा ऐक्सेस नहीं कर सकते?

हम आपके डेटा को उसी तरह अलग-अलग करके व्यवस्थित करते हैं जैसे आप अपने सर्वर पर करते. आपका डेटा ऐसे पक्ष ऐक्सेस नहीं कर सकते जिनके पास इसकी अनुमति नहीं है. न तो आप अन्य उपयोगकर्ताओं का डेटा ऐक्सेस कर सकते हैं और न ही वे आपका. सभी उपयोगकर्ता खातों के लिए, खास तरह की सुरक्षा सेटिंग की जाती है, ताकि यह पक्का किया जा सके कि एक उपयोगकर्ता दूसरे उपयोगकर्ता का डेटा न देख सके. हम भी आपके डेटा को वैसे ही मैनेज करते हैं जैसे शेयर किए गए अन्य इन्फ़्रास्ट्रक्चर में किया जाता है. उदाहरण के लिए, ऑनलाइन बैंकिंग के लिए इस्तेमाल होने वाले ऐप्लिकेशन में.

Google की सेवाएं किस तरह से Google Workspace for Education के खाते से जानकारी इकट्ठा करती हैं और उसका इस्तेमाल करती हैं?

उपयोगकर्ताओं को विज्ञापन दिखाने या उनकी विज्ञापन प्रोफ़ाइलें बनाने के लिए, Google Workspace for Education की Core Services (EN) से उपयोगकर्ताओं की जानकारी न तो इकट्ठा की जाती है और न ही उसका इस्तेमाल किया जाता है. डेटा मैनेज करने के लिए, सुरक्षा से जुड़े कड़े मानकों का पालन किया जाता है. साथ ही, डेटा के इस्तेमाल से जुड़ी निजता नीतियों के मुताबिक, पारदर्शिता का पूरा ध्यान रखा जाता है. Google Workspace for Education के निजता नोटिस में विस्तार से बताया गया है कि Google Workspace for Education खाते से Google की सेवाओं का इस्तेमाल करने पर, ये सेवाएं आपकी किस तरह की जानकरी इकट्ठा करती हैं. हम डेटा का इस्तेमाल आपको प्रॉडक्ट उपलब्ध कराने, उनका रखरखाव करने, और उन्हें सुरक्षित बनाने के साथ-साथ नए प्रॉडक्ट बनाने के लिए करते हैं. इसके अलावा, डेटा का इस्तेमाल Google और इसके उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा के लिए भी किया जाता है. उदाहरण के लिए, हम उपयोगकर्ता के ईमेल पते जैसी जानकारी इकट्ठा करते हैं. इसका इस्तेमाल तब किया जाता है, जब वह उपयोगकर्ता अपने ईमेल पते से Classroom ऐक्सेस करने की कोशिश करता है. ऐसा होने पर, हम उस उपयोगकर्ता को ईमेल भेजते हैं, ताकि यह पुष्टि की जा सके कि उसी ने इस ऐप्लिकेशन को ऐक्सेस करने की कोशिश की है.

Google Workspace for Education में उपयोगकर्ताओं के खातों के डेटा को किस तरह से स्कैन और इंडेक्स किया जाता है?

उपयोगकर्ताओं को विज्ञापन दिखाने या उनकी विज्ञापन प्रोफ़ाइलें बनाने के लिए, Google Workspace for Education की Core Services (EN) से उपयोगकर्ताओं की जानकारी न तो इकट्ठा की जाती है और न ही उसका इस्तेमाल किया जाता है.

उपयोगकर्ताओं को Google Workspace for Education की मूल सेवाएं उपलब्ध कराते समय, हम सेवा का जो डेटा इकट्ठा और जनरेट करते हैं उसके बारे में Google Cloud के निजता नोटिस में जानकारी देते हैं. सेवा के इस डेटा में, ग्राहकों के पैसे चुकाने की और लेन-देन की, सेटिंग और कॉन्फ़िगरेशन के साथ ही प्रॉडक्ट के इस्तेमाल और सीधे हमसे की गई बातचीत की जानकारी शामिल होती है. हालांकि, सेवाएं इस्तेमाल करने के दौरान, ग्राहकों और उपयोगकर्ताओं ने जो निजी जानकारी मुहैया कराई है उसे इसमें शामिल नहीं किया जाता.

अपने संस्थान की ज़रूरतों के मुताबिक, निजता और सुरक्षा की सेटिंग में किस तरह से बदलाव किया जा सकता है?

Google Workspace for Education के चार वर्शन उपलब्ध हैं. एडमिन अपने संस्थान की ज़रूरतों के हिसाब से सही वर्शन चुन सकते हैं.

Google Workspace for Education Fundamentals और Teaching and Learning Upgrade वर्शन में शामिल इन सुविधाओं की मदद से सीखने-सिखाने के लिए सुरक्षित माहौल तैयार करें:

  • चेतावनी केंद्र: इसकी मदद से आपको सूचनाओं, चेतावनियों, और कार्रवाइयों के ज़रिए सुरक्षा के बारे में पूरी जानकारी मिलती है
  • पहचान और ऐक्सेस मैनेजमेंट: दो तरीकों से पुष्टि की सुविधा, सिंगल साइन-ऑन, और पासवर्ड मैनेजमेंट की मदद से टूल का ऐक्सेस मैनेज करें
  • डेटा लीक होने की रोकथाम (डीएलपी): इसकी मदद से, Gmail और Drive में मौजूद डेटा की सुरक्षा के लिए अपने हिसाब से अपने-आप लागू होने वाले नियम और नीतियों को सेट किया जाता है, ताकि डेटा खोने या उसकी चोरी से होने वाले नुकसान से बचा जा सके
  • Vault: यह डेटा को सेव करने, उसे खोजने, और एक्सपोर्ट करने जैसी सुविधाओं की मदद से, आपके निजी डेटा के रखरखाव और ई-खोज की ज़रूरतों को पूरा करता है

इसकी सुरक्षा सुविधाओं का इस्तेमाल करके, अपने स्कूल की सुरक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाया जा सकता है. Google Workspace for Education Standard और Google Workspace for Education Plus में आपको ऊपर के दोनों वर्शन में शामिल सुविधाओं के साथ-साथ ये सुविधाएं भी मिलती हैं:

Google Workspace for Education के सभी वर्शन में एडमिन को डिफ़ॉल्ट सेटिंग बदलने के लिए पूरा कंट्रोल और सभी सुविधाएं मिलती हैं. एडमिन चाहें, तो पूरे स्कूल, सभी कक्षाओं या सिर्फ़ छात्र-छात्राओं के लिए डिफ़ॉल्ट सेटिंग बदल सकते हैं. डिफ़ॉल्ट रूप से, 18 साल से कम उम्र के उपयोगकर्ता, ऐसा कॉन्टेंट ऐक्सेस नहीं कर सकते जो उनकी उम्र के हिसाब से सही न हो. ऐसा इसलिए है, ताकि छात्र-छात्राएं ऑनलाइन प्लैटफ़ॉर्म पर सुरक्षित रहें. हालांकि, एडमिन चाहें, तो सेटिंग बदल सकते हैं.

क्या अमेरिका में Google ने स्टूडेंट प्राइवेसी प्लेज पर हस्ताक्षर किए हैं?

हां. Google ने Google Workspace for Education की मूल सेवाओं के लिए, स्टूडेंट प्राइवेसी प्लेज पर हस्ताक्षर किए हैं. यह शपथ, फ़्यूचर ऑफ़ प्राइवेसी फ़ोरम (एफ़पीएफ़) और द सॉफ़्टवेयर ऐंड इनफॉर्मेशन इंडस्ट्री असोसिएशन (एसआईआईए) ने मिलकर जारी की है. यह हमें स्कूलों में इस्तेमाल की जा रही सेवाओं में छात्र-छात्राओं की निजी जानकारी सुरक्षित रखने के लिए प्रतिबद्ध बनाती है.

Google Workspace for Education के उपयोगकर्ताओं को मिलने वाली अतिरिक्त सेवाएं

अतिरिक्त सेवाओं के बारे में ज़्यादा जानें.

क्या छात्र-छात्राएं अपने Google Workspace for Education खाते से Google की दूसरी सेवाओं को ऐक्सेस कर सकते हैं?

Google की अतिरिक्त सेवाएं या प्रॉडक्ट, Google की ऐसी अन्य सेवाएं हैं जिनका इस्तेमाल, Google खाते से किया जा सकता है. जैसे, YouTube, Blogger, और Google Earth. ज़्यादातर अतिरिक्त सेवाओं पर Google की सेवा की शर्तें और निजता नीति लागू होती हैं. कुछ सेवाओं पर, सेवा से जुड़ी खास शर्तें भी लागू हो सकती हैं.

डिफ़ॉल्ट रूप से 18 साल से कम उम्र के उपयोगकर्ता, Google की अतिरिक्त सेवाओं, जैसे कि YouTube, Maps, Search, और Play पर ऐसा कॉन्टेंट ऐक्सेस नहीं कर सकते जो उनकी उम्र के हिसाब से सही न हो. इसके अलावा, वे Google की कुछ अतिरिक्त सेवाएं भी ऐक्सेस नहीं कर सकते. एडमिन चाहें, तो ये सेटिंग बदल सकते हैं. इन अतिरिक्त सेवाओं में विज्ञापन दिख सकते हैं. हालांकि, Google Workspace के प्राइमरी या सेकंडरी (पहली कक्षा से बारहवीं तक) स्कूल के उपयोगकर्ताओं को विज्ञापन दिखाने के लिए, उनकी निजी जानकारी या उनके खाते से जुड़ी किसी अन्य जानकारी का इस्तेमाल नहीं किया जाता.

Google Workspace की अतिरिक्त सेवाओं को किस तरह से मैनेज किया जा सकता है?

Google, एडमिन को ऐसे कई विकल्प उपलब्ध कराता है जिनकी मदद से, स्कूल के डोमेन कॉन्फ़िगर करते समय नियमों और कानूनों का पालन किया जा सके. नियमों और कानूनों के पालन के लिए बनाई गई बेहतर नीतियों के मुताबिक, डिफ़ॉल्ट रूप से 18 साल से कम उम्र के उपयोगकर्ता, Google की अतिरिक्त सेवाओं, जैसे कि YouTube, Maps, Search, और Play पर ऐसा कॉन्टेंट ऐक्सेस नहीं कर सकते जो उनकी उम्र के हिसाब से सही न हो. इसके अलावा, वे Google की कुछ अतिरिक्त सेवाएं भी ऐक्सेस नहीं कर सकते. एडमिन, अपने स्कूल की ज़रूरत के मुताबिक इन सेटिंग में बदलाव कर सकते हैं. ज़्यादातर अतिरिक्त सेवाओं पर, Google की सेवा की शर्तें और निजता नीति लागू होती हैं. कुछ सेवाओं पर, सेवा से जुड़ी खास शर्तेंभी लागू हो सकती हैं.

स्कूल, शिक्षकों और छात्र-छात्राओं के कुछ खास ग्रुप के लिए, इन सेवाओं को चालू या बंद किया जा सकता है. छात्र-छात्राओं को अतिरिक्त सेवाओं का ऐक्सेस देने के लिए, स्कूल को अभिभावक की सहमति लेना ज़रूरी है. सहमति मिलने के बाद, छात्र-छात्राएं Google Workspace for Education की उन अतिरिक्त सेवाओं का इस्तेमाल कर सकते हैं जिनकी अनुमति उनका स्कूल देता है. हर स्कूल और संगठन की ज़रूरतें अलग-अलग होती है. इसलिए, हम स्कूलों को यह सुविधा देते हैं कि वे अपने छात्र-छात्राओं और शिक्षकों की ज़रूरतों के हिसाब से टूल कॉन्फ़िगर कर सकें

अतिरिक्त सेवाओं के इस्तेमाल के दौरान इकट्ठा किए गए डेटा का किस तरह से इस्तेमाल होता है?

अतिरिक्त सेवाओं से इकट्ठा की गई जानकारी का इस्तेमाल Google की सेवाएं आम तौर पर कैसे करती हैं, इसके बारे में Google निजता नीति में विस्तार से बताया गया है. इसमें, Google Workspace for Education के उपयोगकर्ताओं की जानकारी के इस्तेमाल के बारे में भी बताया गया है. Google Workspace for Education खाते से Google की सेवाओं का इस्तेमाल करने पर ये सेवाएं आपकी किस तरह की जानकरी इकट्ठा करती हैं, इस बारे में Google Workspace for Education के निजता नोटिस में विस्तार से बताया गया है.

Google Workspace for Education के प्राइमरी और सेकंडरी स्कूल (पहली कक्षा से बारहवीं तक) के उपयोगकर्ताओं को विज्ञापन दिखाने के लिए, Google अपने उपयोगकर्ताओं की निजी जानकारी या उनके Google Workspace for Education खाते से जुड़ी किसी अन्य जानकारी का इस्तेमाल नहीं करता. इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता कि उस जानकारी का इस्तेमाल Google Workspace for Education खाते में मिलने वाली मूल सेवाओं या Google की अन्य सेवाओं के लिए किया गया है या नहीं.

क्या Google Workspace के ग्राहकों का डेटा अतिरिक्त सेवाओं के साथ शेयर किया जाता है? अगर हां, तो किस तरह की जानकारी शेयर की जाती है?

Google Workspace for Education के ग्राहकों से जुड़ा डेटा, अतिरिक्त सेवाओं के साथ नहीं शेयर किया जाता. अगर डोमेन का एडमिन अतिरिक्त सेवाओं को चालू करता है, तो ग्राहक से जुड़ा कुछ डेटा शेयर किया जा सकता है. हालांकि, ऐसा होने पर सिर्फ़ वही डेटा शेयर किया जाता है जो अतिरिक्त सेवाओं के काम करने के लिए ज़रूरी है. Google, उपयोगकर्ता या एडमिन की अनुमति के बिना मूल सेवाओं के उपयोगकर्ताओं से जुड़ा डेटा, अतिरिक्त सेवाओं के साथ शेयर नहीं करता. हालांकि, जब अतिरिक्त सेवाओं के काम करने के लिए मूल सेवाओं के डेटा की ज़रूरत होती है, तब उनका डेटा शेयर किया जा सकता है. ऐसा Google Workspace के नियम और शर्तों को ध्यान में रखकर किया जाता है. जैसे: Assistant के काम करने के लिए.

अतिरिक्त सेवाओं से इकट्ठा किए गए डेटा पर Google निजता नीति लागू होती है. Google की सेवाओं में जानकारी का इस्तेमाल आम तौर पर कैसे किया जाता है, इसके बारे में Google निजता नीति में बताया गया है. इसमें, Google Workspace for Education के उपयोगकर्ताओं की जानकारी के इस्तेमाल के बारे में भी बताया गया है. Google Workspace for Education खाते से Google की सेवाओं का इस्तेमाल करने पर ये सेवाएं आपकी किस तरह की जानकरी इकट्ठा करती हैं, इसके बारे में Google Workspace for Education के निजता नोटिस में बताया गया है.

अतिरिक्त सेवाओं के डेटा को किस तरह से मिटाया जा सकता है?

Google अपने ग्राहकों और उपयोगकर्ताओं को अपना डेटा मिटाने की सुविधा देता है. इसके अलावा, ग्राहक या उपयोगकर्ता चाहें, तो अपने खाते से, Google की कुछ सेवाओं को भी मिटा सकते हैं. ग्राहक या उपयोगकर्ता चाहें, तो अपने Google खाते को भी मिटा सकते हैं. Google खाते में मौजूद कोई जानकारी ढूंढने, उसे मैनेज करने, और मिटाने में सहायता पाने के लिए, कृपया यहां दिया गया लेख पढ़ें:

Chromebook डिवाइस

Chromebook की सुरक्षा के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब जानें.

Chromebook डिवाइसों का इस्तेमाल कौन करते हैं?

दुनिया भर में लाखों छात्र-छात्राएं पढ़ने के लिए, Chromebook डिवाइसों का इस्तेमाल करते हैं. Chromebook डिवाइस, निजता और सुरक्षा से जुड़ी बेहतरीन और आधुनिक सुविधाओं की वजह से दुनिया भर में सबसे लोकप्रिय डिवाइस है.

क्या Chromebook डिवाइसों का इस्तेमाल करना मेरी स्कूल कम्यूनिटी के लिए सुरक्षित है?

हां. Chromebook डिवाइसों में कई लेयर वाली सुरक्षा सुविधाएं मौजूद है. इसलिए, कोई सुरक्षा सॉफ़्टवेयर जोड़े बिना भी ये वायरस और मैलवेयर से सुरक्षित रहते हैं. डिवाइस बूट होने में लगने वाले समय का 10% समय, सिर्फ़ इस बात की जांच करने में जाता है कि डिवाइस से कोई छेड़छाड़ तो नहीं की गई. इसलिए, जब भी Chromebook चालू किया जाता है, तो सबसे पहले डिवाइस की सुरक्षा की जांच होती है. Chromebook डिवाइसों को एक ही कंसोल से मैनेज किया जा सकता है. इसलिए, स्कूल के आईटी एडमिन के लिए, नीतियां और सेटिंग कॉन्फ़िगर करना काफ़ी आसान हो जाता है. जैसे, सुरक्षित ब्राउज़िंग की सेटिंग चालू करना या नुकसान पहुंचाने वाली साइटों को ब्लॉक करना. Chromebook डिवाइसों में यहां दी गई सुविधाएं पहले से मौजूद होती हैं:

  • अपने-आप अपडेट होने की सुविधा: इसकी मदद से, मैलवेयर से सुरक्षा देने वाली सुविधाएं हमेशा अप-टू-डेट रहती हैं
  • वेरिफ़ाइड बूट: इसकी मदद से, Chromebook डिवाइस खुद ही मैलवेयर का पता लगाकर उसे हटा देता है
  • सिक्योरिटी सैंडबॉक्स: यह सुविधा, वायरस को फैलने से रोकने में मदद करती है. यह पक्का करती है कि सभी वेबपेज और ऐप्लिकेशन उनके लिए तय की गई अनुमतियों के दायरे में ही काम करें
  • 128-बिट डेटा एन्क्रिप्शन: इस तकनीक की मदद से, हर छात्र/छात्रा को यूनीक उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड असाइन किया जाता है, ताकि Chromebook डिवाइसों का सुरक्षित तरीके से इस्तेमाल किया जा सके
  • 'Chrome सिंक' सुविधा: इसकी मदद से, छात्र-छात्राएं किसी भी Chromebook डिवाइस या Chrome ब्राउज़र में साइन इन कर सकते हैं, ताकि वे अपने सभी ऐप्लिकेशन, सेटिंग, और प्राथमिकताओं को ऐक्सेस कर सकें

क्या Chromebook डिवाइसों का इस्तेमाल करके ऑनलाइन तरीके से परीक्षा ली जा सकती है?

Chromebook डिवाइस सुरक्षा के लिहाज़ से एक बेहतर प्लैटफ़ॉर्म है, इसलिए आप छात्र-छात्राओं की परीक्षा के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं. Chromebook डिवाइस में आप परीक्षा के दौरान छात्र-छात्राओं को वेब ब्राउज़ करने से रोकने के साथ-साथ बाहरी स्टोरेज के इस्तेमाल पर भी रोक लगा सकते हैं. इसके अलावा, स्क्रीन शॉट लेने और प्रिंट करने की सुविधा को भी बंद कर सकते हैं. पीएआरसीसी (TestNav की वेबसाइट देखें) और स्मार्टर बैलेंस्ड असेस्मेंट कंसोर्टियम, दोनों ने इस बात की पुष्टि की है कि Chromebook डिवाइस में छात्र-छात्राओं की ऑनलाइन पढ़ाई के लिए ज़रूरी हार्डवेयर और ऑपरेटिंग सिस्टम दोनों शामिल हैं.

Chromebook पर किस तरह से छात्र-छात्राओं के डेटा का इस्तेमाल और उसकी सुरक्षा की जाती है?

Google ऐसे प्रॉडक्ट बनाता है जिनके इस्तेमाल से छात्र-छात्राओं और शिक्षकों की निजता को कोई खतरा नहीं होता है. साथ ही, आपके संस्थान को सुरक्षा की बेहतर सुविधाएं मिलती हैं. हमारे सिस्टम लाखों उपयोगकर्ताओं का डेटा इकट्ठा करते हैं और उस डेटा में से उपयोगकर्ताओं की पहचान ज़ाहिर करने वाली निजी जानकारी हटा देते हैं. इसके बाद, बचे हुए डेटा का इस्तेमाल, Google की सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है. डिफ़ॉल्ट रूप से Chromebook डिवाइस, डिवाइस और सेटिंग से जुड़ी बहुत सारी जानकारी इकट्ठा करता है. इसमें, क्रैश रिपोर्ट और इस्तेमाल के आंकड़े भी शामिल होते हैं. उदाहरण के लिए, अगर डेटा से यह पता चलता है कि लाखों लोग किसी ऐसे वेबपेज पर जा रहे हैं जो काम नहीं कर रहा है, तो खोज के नतीजों में उस पेज को नीचे दिखाया जाएगा. यह डेटा न तो किसी खास व्यक्ति से जुड़ा होता है और न ही इसका इस्तेमाल छात्र-छात्राओं के व्यवहार को समझने के लिए किया जाता है.

'Chrome सिंक' की मदद से, Google खाता इस्तेमाल करने वाले लोग किसी भी Chromebook डिवाइस या Chrome ब्राउज़र में साइन इन करके अपने ऐप्लिकेशन, एक्सटेंशन, बुकमार्क, और अक्सर इस्तेमाल किए जाने वाले वेब पेजों को खोज सकते हैं. Chromebook डिवाइस और Chrome सिंक की मदद से छात्र-छात्राएं अपने डेटा की सुरक्षा की चिंता किए बिना, उन सभी डिवाइसों पर मनमुताबिक अनुभव पा सकते हैं जिन्हें वे दूसरे बच्चों के साथ शेयर करते हैं. Google Workspace for Education उपयोगकर्ताओं के 'Chrome सिंक' के डेटा का इस्तेमाल, छात्र-छात्राओं को विज्ञापन दिखाने के लिए नहीं किया जाता.

अगर उपयोगकर्ता चाहें, तो एडमिन 'Chrome सिंक' सुविधा बंद कर सकते हैं. ऐसा होने पर, उपयोगकर्ता तय कर पाएंगे कि उनके खाते से कौनसी जानकारी सिंक की जाए. अगर कोई व्यक्ति Google Workspace EDU खाते से 'Chrome सिंक' का इस्तेमाल करता है, तो उसकी निजी पहचान से जुड़े डेटा का इस्तेमाल सिर्फ़ उसे Chrome की सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए किया जाता है. जैसे, छात्र-छात्राओं को सभी डिवाइसों पर उनके ब्राउज़िंग डेटा और सेटिंग का सुरक्षित ऐक्सेस देने के लिए. अगर उपयोगकर्ता चाहें, तो एडमिन 'Chrome सिंक' सुविधा बंद कर सकते हैं. ऐसा होने पर, उपयोगकर्ता तय कर पाएंगे कि उनके खाते से कौनसी जानकारी सिंक की जाए. Google Workspace for Education उपयोगकर्ताओं के 'Chrome सिंक' के डेटा का इस्तेमाल, Google Workspace for Education की मूल सेवाओं में विज्ञापन दिखाने के लिए नहीं किया जाता.

क्या Chromebook डिवाइसों में निजता और सुरक्षा से जुड़ी अतिरिक्त सुविधाएं होती हैं?

Chrome Education Upgrade (EN) की मदद से, स्कूल के आईटी एडमिन, छात्र-छात्राओं के लिए सुविधाएं ऐक्सेस करने की सेटिंग, स्कूल की ज़रूरत के मुताबिक तय कर सकते हैं. इससे स्कूल के डेटा की सुरक्षा और बेहतर होती है. यहां दी गई सुविधाओं को एक ही कंसोल से मैनेज किया जा सकता है:

  • बेहतर सुरक्षा सुविधाएं: इसकी मदद से बिना अनुमति वाले डिवाइस से स्कूल का डेटा ऐक्सेस करने से रोकना बहुत आसान हो जाता है, क्योंकि ऐसा होने पर बेहतर सुरक्षा सुविधाओं की मदद से आईटी टीम जिस डिवाइस से डेटा ऐक्सेस करने की कोशिश की गई उसे सिस्टम से हटा देती है. डिवाइस को अल्पकालिक मोड या सेशन खत्म होने पर उपयोगकर्ता का डेटा मिटने के विकल्प पर सेट अप किया जा सकता है. इसके अलावा, डिवाइस को परसिस्टेंट इनरोलमेंट के हिसाब से भी सेट अप किया जा सकता है. ऐसा करने से अनुमति न होने पर कोई भी व्यक्ति, डिवाइस को ऐक्सेस नहीं कर सकता.
  • हर समय (24/7 ) सहायता: इसके ज़रिए, ChromeOS से जुड़ी समस्याओं को हल करने की अतिरिक्त सुविधा मिलती है. अगर कोई समस्या आती है, तो आप Google सहायता टीम को किसी भी समय कॉल कर सकते हैं. इसके लिए, आपको कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा.
  • आसान तरीके से डिप्लॉयमेंट की सुविधा: यह आईटी एडमिन को क्लाउड-आधारित Google Admin console के ज़रिए, डिवाइस की नीतियों और सभी डिवाइसों की निगरानी की सुविधाओं का ऐक्सेस देती है. इन नीतियों और सुविधाओं का ऐक्सेस, स्कूल से जारी किए गए डिवाइसों और छात्र-छात्राओं के रजिस्टर किए गए निजी डिवाइसों, दोनों के लिए दिया जाता है.
  • ऐक्सेस कंट्रोल की बेहतर सुविधा: यह स्कूल के डेटा और अलग-अलग प्लैटफ़ॉर्म के लिए ऐक्सेस से जुड़ी सेटिंग मैनेज करने देती है – इससे कौन-क्या ऐक्सेस कर सकता है यह आईटी टीम मैनेज कर सकती है. मैनेज किए जा रहे गेस्ट सेशन (मेहमान के तौर पर ब्राउज़ करने का सेशन) और कीऑस्क मोड में 'शेयर किए गए डिवाइस' में, इस्तेमाल के उदाहरण देखने की सेटिंग चालू कर सकते है. जैसे, छात्र-छात्रा का काम दिखाने के लिए या लाइब्रेरी सेटिंग के लिए.

अतिरिक्त संसाधन

अपने शिक्षा समुदाय के लोगों को बताएं कि वे किस तरह से डिजिटल प्लैटफ़ॉर्म पर सुरक्षित रह सकते हैं और उसका बेहतर इस्तेमाल कर सकते हैं.

डिजिटल प्लैटफ़ॉर्म पर सीखने का सुरक्षित और सकारात्मक माहौल बनाने में शिक्षक किस तरह से मदद कर सकते हैं?

हम जानते हैं कि टेक्नोलॉजी के प्रति छात्र-छात्राओं की रूचि बढ़ाने और उन्हें टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल सिखाने में शिक्षक अहम भूमिका निभा सकते हैं. हम चाहते हैं कि शिक्षक, छात्र-छात्राओं के टेक्नोलॉजी से जुड़े सवालों के जवाब बेहतर तरीके से दे पाएं और उन्हें टेक्नोलॉजी से जुड़ी हर बात बेहतर तरीके से समझा पाएं. इसलिए, हमने डिजिटल नागरिकता और सुरक्षा से जुड़ा कोर्स तैयार किया है. Google, बच्चों को उनके हिसाब का कॉन्टेंट उपलब्ध कराने, उनके लिए सेवाओं के ऐक्सेस की सीमा तय करने, और टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल में बच्चों की रुचि बढ़ाने के लिए शिक्षकों की मदद भी लेता है. जैसे, Be Internet Awesome प्रोग्राम की मदद से बच्चों को ऑनलाइन सुरक्षा के बारे में सिखाने में. (शायद यह प्रोग्राम कुछ भाषाओं में उपलब्ध नहीं है.)

सरकार की ओर से डेटा मांगे जाने पर, Google Workspace for Education किस तरह से जवाब देता है?

Google की नीति के मुताबिक डेटा पर मालिकाना हक ग्राहक का होता है, इसलिए सरकार की ओर से डेटा मुहैया कराने के लिए भेजे गए किसी भी अनुरोध का जवाब देने की ज़िम्मेदारी मुख्य तौर पर ग्राहक की होती है. अगर सरकार, उपयोगकर्ता का डेटा सीधे Google से मांगती है, तो हम उन्हें ग्राहक से संपर्क करने के लिए कहते हैं. हालांकि, किसी व्यक्ति के Google की सेवाओं के इस्तेमाल से जुड़ी जानकारी पाने के लिए, दुनिया का कोई भी कोर्ट या सरकार सीधे Google से अनुरोध कर सकते हैं. हम हर अनुरोध की सावधानी से समीक्षा करते हैं, ताकि पक्का कर सकें कि लागू कानूनों के मुताबिक उसका जवाब देना ज़रूरी है या नहीं. अगर हमसे ज़रूरत से ज़्यादा जानकारी मांगी जाती है, तो हमारी कोशिश यही रहती है कि हम उतनी ही जानकारी दें जितनी ज़रूरी है. कुछ मामलों में, हम आपत्ति जताते हुए किसी भी तरह की जानकारी देने से मना कर देते हैं. कानूनी अनुरोध का पालन करने के साथ-साथ हम आपकी निजता और डेटा को सुरक्षित रखने का ध्यान भी रखते हैं. सरकार, ग्राहक का किस तरह का डेटा Google से मांगती है और Google, उस पर क्या कार्रवाई करता है, इस बारे में Transparency Report में विस्तार से बताया गया है.

मुझे सुरक्षा, निजता, और अनुपालन से जुड़ी जानकारी कहां मिल सकती है?

Google का लक्ष्य है स्कूलों में डिजिटल लर्निंग के लिए एक सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराना. यहां हमने ऐसे कई संसाधनों की जानकारी दी है जिनकी मदद से आप जान सकते हैं Google अपने उपयोगकर्ताओं के डेटा को कैसे सुरक्षित रखता है.

अभिभावक

Google for Education

Google आपके बच्चे की निजता और उसके डेटा की सुरक्षा कैसे करता है, इसके बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवालों के जवाब जानें.

Google किस तरह से मेरे बच्चे के डेटा को सुरक्षित रखता है?

Google के सभी प्रॉडक्ट की सुरक्षा के लिए, हम जिन इन्फ़्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल करते हैं वे दुनिया के बेहतरीन इन्फ़्रास्ट्रक्चर में शामिल हैं. साथ ही, अगर कोई व्यक्ति हमारे ग्राहकों से जुड़े डेटा को गैरकानूनी तरीके से ऐक्सेस करने की कोशिश करता है, तो हम उसे रोकने की पूरी कोशिश करते हैं. आपके स्कूल का डेटा सुरक्षित रखने के लिए, कई लेयर की सुरक्षा वाले वही तरीके अपनाए जाते हैं जिनका इस्तेमाल, Google अपने डेटा की सुरक्षा के लिए करता है. इन तरीकों का इस्तेमाल कई बड़ी-बड़ी कंपनियां भी करती हैं.

आपके स्कूल का डेटा सुरक्षित रखने के लिए, कई लेयर की सुरक्षा वाले वही तरीके अपनाए जाते हैं जिनका इस्तेमाल, Google अपने डेटा की सुरक्षा के लिए करता है. इन तरीकों का इस्तेमाल कई बड़ी-बड़ी कंपनियां भी करती हैं. जो डेटा ऐक्टिव नहीं है उसे Google, डिफ़ॉल्ट रूप से एन्क्रिप्ट (सुरक्षित) करता है. साथ ही, बेहतर सुरक्षा और परफ़ॉर्मेंस के लिए, डेटा सेंटर को ऑप्टिमाइज़ करता है. Google में डेटा की सुरक्षा के लिए काम करने वाली इंजीनियरिंग टीम में दुनिया के जाने-माने विशेषज्ञ भी शामिल हैं. यह टीम सुरक्षा से जुड़े खतरों को जल्द से जल्द पहचानने और उन पर कार्रवाई करने के लिए हमेशा तैयार रहती है.

Google किस तरह से मेरे बच्चे की जानकारी इकट्ठा करता है और उसका इस्तेमाल करता है?

उपयोगकर्ता के डेटा का मालिकाना हक Google के पास नहीं होता.

छात्र-छात्राओं के काम का मालिकाना हक और बौद्धिक संपत्ति के सभी अधिकार स्कूल के पास होते हैं. छात्र-छात्राओं के काम को भी स्कूल ही मैनेज करते हैं. Google Workspace for Education या Chromebook का इस्तेमाल करते समय इकट्ठा की गई निजी जानकारी, कभी किसी तीसरे पक्ष को नहीं बेची जाती. Google इस जानकारी का इस्तेमाल, अपने उपयोगकर्ताओं की मदद करने और छात्र-छात्राओं को पढ़ाई के लिए मनमुताबिक अनुभव उपलब्ध कराने के लिए करता है. जैसे: स्कूल एडमिन, छात्र-छात्राओं के ईमेल पते का इस्तेमाल करते हैं, ताकि Google उन्हें ईमेल भेज सके.

Google for Education किस तरह से मेरे बच्चे की निजता को सुरक्षित रखता है?

Google for Education में शामिल सेवाएं आपकी निजता और डेटा को सुरक्षित रखती हैं. इसके लिए, ये दुनिया भर में शिक्षा के क्षेत्र में लागू कड़े मानकों का पालन करती हैं. Google for Education को अमेरिका में कोपा और एफ़ईआरपीए के साथ ही यूरोपीय संघ में जीडीपीआर का पालन करते हुए इस्तेमाल किया जा सकता है. साथ ही, हम स्वतंत्र रूप से काम करने वाले तीसरे पक्ष के संगठनों से ऑडिट भी कराते हैं.

Google किस तरह से 18 साल के कम उम्र के बच्चों को पढ़ने के लिए सुरक्षित प्लैटफ़ॉर्म उपलब्ध कराता है?

Google के प्रॉडक्ट में पहले से मौजूद डिफ़ॉल्ट सेटिंग की मदद से, छात्र-छात्राओं को सिर्फ़ ऐसे कॉन्टेंट का ऐक्सेस दिया जाता है जो उनकी उम्र हिसाब से सही हो.

आपके स्कूल के एडमिन इन सेटिंग को कंट्रोल कर सकते हैं. इससे, वे YouTube के कॉन्टेंट के साथ-साथ Google Search के खोज नतीजों में से ऐसे नतीजों पर पाबंदी लगा सकते हैं जो उनकी उम्र के हिसाब से सही न हों, ताकि छात्र-छात्राएं असुरक्षित वेबसाइट न देख सकें.

Google Workspace for Education में कौन-कौनसी सेवाएं शामिल हैं?

Google Workspace for Education में Google Classroom, Assignments, Forms, Google Meet, Gmail, Calendar, Docs, Slides, Sheets, Sites, Drive, Chat, Jamboard, Contacts, Groups, Vault, और Chrome सिंक शामिल हैं.

क्या Google Workspace for Education के इस्तेमाल के दौरान मेरे बच्चे को विज्ञापन दिखेगा?

नहीं. Google Workspace for Education में कोई विज्ञापन नहीं दिखाया जाता. हम विज्ञापन प्रोफ़ाइल बनाने के लिए, न तो छात्र-छात्राओं के डेटा का इस्तेमाल करते हैं और न ही उनका डेटा इकट्ठा करते हैं.

यह नीति, प्राइमरी और सेकंडरी स्कूल में इस्तेमाल किए जाने वाले ऐसे टूल के लिए भी लागू होती है जो Google Workspace for Education में शामिल नहीं हैं. उदाहरण के लिए, अगर आपका बच्चा Google पर कुछ खोजने के लिए, अपने Google Workspace for Education खाते का इस्तेमाल करेगा, तो उसे विज्ञापन नहीं दिखेंगे.

बच्चे के Google Workspace for Education खाते से जुड़ी जानकारी को किस तरह से ऐक्सेस किया जा सकता है?

Google Workspace for Education के प्राइमरी और सेकंडरी स्कूल के उपयोगकर्ताओं के माता-पिता, एडमिन से अनुरोध करके अपने बच्चे की निजी जानकारी ऐक्सेस कर सकते हैं.

अगर अभिभावक नहीं चाहते कि उनके बच्चे की जानकारी इकट्ठा की जाए या उसका इस्तेमाल किया जाए, तो वे एडमिन से बच्चे का खाता मिटाने या उसके लिए सुविधाओं या सेवाओं के ऐक्सेस की सीमा तय करने का अनुरोध कर सकते हैं. एडमिन, 'सेवा नियंत्रण' की मदद से ये काम कर सकता है.

आपके Google खाते की निजी जानकारी, सेटिंग वगैरह देखने और मैनेज करने के लिए, Google Workspace for Education खाते में साइन इन होने पर भी, आप और आपका बच्चा, आपके Google खाते को ऐक्सेस कर सकते हैं. माता-पिता, 'माता-पिता के निरीक्षण में' सेटिंग के बारे में ज़्यादा जानकारी पाने के लिए, Family Link पर जा सकते हैं.

बच्चे को ऑनलाइन प्लैटफ़ॉर्म पर किस तरह से सुरक्षित रखा जा सकता है?

आपके बच्चे की ऑनलाइन सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है. हम इंटरनेट पर, न सिर्फ़ आपके बच्चे की पढ़ाई के लिए सुरक्षित माहौल उपलब्ध कराते हैं, बल्कि उसे नई-नई चीज़ें सिखाने में आपकी मदद करने के लिए संसाधन भी तैयार करते हैं. यहां कुछ ऐसे संसाधन दिए गए हैं जो आपके बच्चे की ऑनलाइन सुरक्षा में आपकी मदद कर सकते हैं:

हमसे संपर्क करें

Google for Education का इस्तेमाल शुरू करें

हम आपकी मदद के लिए हमेशा तैयार हैं, ताकि Google for Education के इस्तेमाल से आप अपने संगठन के लक्ष्यों को पूरा कर सकें. हमसे संपर्क करें, ताकि हम आपके स्कूल की ज़रूरतों के हिसाब से सही टेक्नोलॉजी चुनने में आपकी मदद कर सकें.

निजता और सुरक्षा

जानें कि Google किस तरह से आपके संस्थान के शिक्षकों और छात्र-छात्राओं की निजता बनाए रखने के साथ-साथ उन्हें बेहतर सुरक्षा उपलब्ध कराता है.